Registrations

students
छात्र
12.12+ Lakh
teachers
शिक्षक
2.71+ Lakh
parents
माता/पिता
90.70+ K

परीक्षा पे चर्चा प्रतियोगिता 2022 में आपका स्वागत है

Pariksha Pe Charcha Contest 2022

हर युवा को जिस संवाद का इंतजार है, वह एक बार फिर आ गया है। प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के साथ परीक्षा पे चर्चा का इंतजार खत्म हुआ!

परीक्षा के तनाव और घबराहट को भूल कर प्रधानमंत्री से अपने सवालों के जवाब पाने के लिए हो जाएं तैयार!

आप सभी की मांग पर इस बार प्रधानमंत्री के साथ इस लोकप्रिय संवाद में न केवल छात्र, बल्कि माता-पिता और शिक्षक भी शामिल हो सकेंगे।

हम सभी के प्रेरणा स्रोत प्रधानमंत्री से न केवल आप सुझाव व सलाह पाएंगे, बल्कि आप उनसे अपने मन के सवाल भी पूछ सकते हैं!

तो आपको (एक छात्र, अभिभावक या शिक्षक) परीक्षा पे चर्चा के चौथे संस्करण में शामिल होने का मौका कैसे मिलेगा?

chance to participate a student, parent or teacher

इसमें शामिल होना बहुत ही आसान है।

जानिए कैसे :

  • सबसे पहले ऊपर दिए गए 'भाग लें' बटन पर क्लिक करें।
  • याद रखें, कक्षा 9 से 12 तक के स्कूली छात्रों के लिए यह प्रतियोगिता खुली है।
  • छात्र, उनके लिए निर्धारित विषयों में से किसी एक पर अपने जवाब भेज सकते हैं।
  • छात्र अधिकतम 500 अक्षरों में माननीय प्रधानमंत्री को अपना प्रश्न भी भेज सकते हैं।
  • माता/पिता और शिक्षक भी इसमें भाग ले सकते हैं। विशेष रूप से उनके लिए निर्धारित ऑनलाइन गतिविधियों जरिए वे अपनी प्रविष्टि भेज सकते हैं।

पुरस्कार

Rewards

MyGov पर आयोजित प्रतियोगिताओं के माध्यम से चयनित लगभग 2050 छात्रों, शिक्षकों और अभिभावकों को शिक्षा मंत्रालय द्वारा पीपीसी किट भेंट किए जाएंगे।

विषय

कोविड-19 के दौरान परीक्षा के तनाव को कम करने की रणनीति

कोविड-19 के दौरान परीक्षा के तनाव को कम करने की रणनीति:

महामारी के दौरान और आगामी परीक्षा को लेकर तनाव को कम करने के लिए एक छात्र के रूप में आपके द्वारा अपनाई गई रचनात्मक रणनीतियां।

India Is Incredible, Travel and Explore

आजादी का अमृत महोत्सव:

क्या आप उस गांव/नगर/शहर के इतिहास के बारे में जानते हैं जहां आप रहते हैं? अपने गांव, कस्बे या शहर के बारे में लिखें और स्वतंत्रता संग्राम में स्थानीय संघर्षों व योगदानों की कहानी साझा करें।

आत्मनिर्भर भारत के लिए आत्मनिर्भर स्कूल :

आपके लिए आत्मनिर्भर के क्या मायने है? जब कोविड-19 के कारण स्कूल पूरी तरह से नहीं चल रहे थे तो शिक्षण और सीखने के मामले में आप और आपके शिक्षकों को "आत्मनिर्भर" बनाने संबंधी अपने विचार साझा करें।

Clean India, Green India

स्वच्छ भारत, हरित भारत:

जलवायु परिवर्तन के खिलाफ भारत की लड़ाई को मजबूत करने के लिए अपने विचार साझा करें।

कक्षाओं का डिजिटलीकरण

कक्षाओं का डिजिटलीकरण:

आपके शिक्षक ने महामारी के दौरान ऑनलाइन क्लास को किस तरह आनंदमय, रोचक और प्रभावी बनाया। ऑनलाइन कक्षाओं की गुणवत्ता को बेहतर बनाने के लिए अपने विचार साझा करें।

पर्यावरण संरक्षण और जलवायु परिवर्तन से निपटने के प्रयास:

कोविड के दौरान एक छात्र के तौर पर पर्यावरण संरक्षण और जलवायु परिवर्तन से निपटने के लिए आपके द्वारा किए गए प्रयास।

नए भारत के लिए राष्ट्रीय शिक्षा नीति (एनईपी)

नए भारत के लिए राष्ट्रीय शिक्षा नीति (एनईपी):

राष्ट्रीय शिक्षा नीति के प्रावधान आखिर किस प्रकार छात्रों के जीवन को समाज में विशेष रूप से सशक्त बनाएंगे और "नए भारत" के निर्माण में सहायक होंगे।

कोविड-19 महामारी: अवसर और चुनौतियाँ:

महामारी के दौरान चुनौतियों से निपटने के लिए शिक्षकों द्वारा अध्यापन में अपनाए गए सुधार/रणनीतियों में रचनात्मक समाधान।

बेटी बचाओ, बेटी पढ़ाओ

बेटी बचाओ, बेटी पढ़ाओ:

देश में माननीय प्रधानमंत्री के "बेटी बचाओ, बेटी पढ़ाओ" के आह्वान के सफल कार्यान्वयन के सात साल पूरे हो गए हैं। इस अभियान ने राष्ट्रीय विकास में किस तरह योगदान दिया, इस विषय पर एक रचनात्मक लेख लिखें।

लोकल टू ग्लोबल - वोकल फॉर लोकल

लोकल टू ग्लोबल - वोकल फॉर लोकल:

'वोकल फॉर लोकल' की मुहिम को सुनिश्चित करते हुए आप, भारत को 'लोकल से ग्लोबल' किस तरह बनाएंगे?

छात्रों की तरह आजीवन सीखने की ललक:

किसी भी नई तकनीक के बारे में लिखें, जो आपने COVID-19 महामारी के दौरान अपने बच्चों से सीखी थी।

छात्रों के लिए दिशानिर्देश

Guidelines for Students
  1. केवल कक्षा 9वीं, 10वीं, 11वीं और 12वीं के स्कूली छात्र ही इसमें भाग ले सकते है।
  2. MyGov प्लेटफॉर्म पर पंजीकरण करके इस प्रतियोगिता में भाग लिया जा सकता है। भारत के बाहर रहने वाले भागीदारी के लिए ईमेल आईडी पर भेजे गए ओटीपी का उपयोग करके पंजीकरण कर सकते हैं।
  3. छात्र अपने लिए निर्धारित केवल एक थीम में भाग ले सकते हैं।
  4. छात्रों को प्रत्येक गतिविधि के लिए निर्धारित शब्द सीमा में ही अपनी प्रविष्टि भेजनी होगी।
  5. छात्रों द्वारा भेजी गई प्रविष्टि मौलिक, रचनात्मक और सरल होनी चाहिए।
  6. प्रधानमंत्री से सवाल 500 अक्षरों से अधिक नहीं होना चाहिए।
  7. प्रविष्टियों को सफलतापूर्वक जमा करने पर सभी छात्रों को भागीदारी का एक डिजिटल प्रमाण पत्र प्राप्त होगा जिसे वे डाउनलोड कर और #PPC2022 के साथ सोशल मीडिया पर शेयर कर सकते हैं।
  8. ओटीपी के लिए छात्र अपना / माता/पिता/शिक्षक के मोबाइल नंबर का उपयोग कर सकते हैं।
  9. छात्रों को अपने शब्दों में मौलिक जवाब भेजना चाहिए।
  10. किसी भी प्रतिभागी द्वारा कोई भी गलत जानकारी/ प्रविष्टि जमा करने पर पीपीसी 2022 से उसकी भागीदारी को अयोग्य करार दिया जाएगा।
  11. प्रविष्टि में कोई उत्तेजक, आपत्तिजनक या अनुचित कंटेंट नहीं होनी चाहिए।
  12. कंटेंट में बदलाव कर गैर कानूनी तरीके से प्रकाशित करने, या विलंब से व गलत प्रविष्टि भेजने की ज़िम्मेदारी प्रतिभागी पर होगी।
  13. प्रतियोगियों द्वारा भेजी गई सभी प्रविष्टियों का उपयोग शिक्षा मंत्रालय और MyGov द्वारा सोशल मीडिया या वेबसाइट पर या आवश्यतानुसार किसी अन्य रूप में किया जा सकता है।
  14. प्रत्येक विजेता को निदेशक, एनसीईआरटी द्वारा प्रशंसा प्रमाण पत्र दिया जाएगा।
  15. प्रत्येक विजेता को एक विशेष परीक्षा पे चर्चा किट भी मिलेगी, जिसमें माननीय प्रधानमंत्री द्वारा हिंदी और अंग्रेजी में लिखित एग्जाम वॉरियर्स की पुस्तक शामिल है।

शिक्षक लॉगिन के माध्यम से छात्रों की भागीदारी

For Participation of Students through Teacher Login
  1. 'शिक्षक के माध्यम से भागीदारी' का चयन शिक्षकों द्वारा उन छात्रों की भागीदारी लिए किया जा सकता है, जिनके पास पीपीसी 2022 में भाग लेने के लिए इंटरनेट या ईमेल आईडी या मोबाइल नंबर नहीं है।
  2. एक शिक्षक लॉगिन के जरिए एक या एक से अधिक छात्रों (एक समय में एक) की प्रविष्टियों का सही विवरण जमा करने में सक्षम होंगे।
  3. 'शिक्षक के माध्यम से भाग लेने' वाले टैब पर क्लिक करने पर शिक्षक अपने द्वारा भेजे गए सभी प्रविष्टियों की स्थिति को देखने में सक्षम होंगे। 

माता-पिता और शिक्षकों के लिए दिशानिर्देश

  1. सभी माता/पिता और शिक्षकों के लिए भागीदारी खुली है।
  2. माता/पिता और शिक्षक MyGov प्लेटफॉर्म पर पंजीकरण करके प्रतियोगिता में भाग ले सकते हैं। भारत से बाहर के प्रतिभागियों के लिए, ईमेल आईडी पर भेजे गए ओटीपी का उपयोग करके पंजीकरण किया जा सकता है।
  3. माता/पिता और शिक्षक उनके लिए निर्दिष्ट केवल एक विषय में भाग ले सकते हैं।
  4. माता/पिता और शिक्षकों को अपनी प्रविष्टि भेजते समय प्रत्येक गतिविधि के लिए निर्धारित शब्द सीमा का ध्यान रखना चाहिए।
  5. भेजी गई प्रविष्टि मौलिक, रचनात्मक और सरल होनी चाहिए।
  6. प्रविष्टियों को सफलतापूर्वक जमा करने पर सभी माता/पिता और शिक्षकों को भागीदारी का एक डिजिटल प्रमाण पत्र प्राप्त होगा, जिसे वे डाउनलोड कर और #PPC2022 के साथ सोशल मीडिया पर शेयर कर सकते हैं।
  7. प्रतिभागियों को अपने शब्दों में केवल मौलिक जवाब भेजना चाहिए।
  8. प्रविष्टि में कोई उत्तेजक, आपत्तिजनक या अनुचित सामग्री नहीं होनी चाहिए।
  9. कंटेंट में बदलाव कर गैर कानूनी तरीके से प्रकाशित करने, या विलंब से व गलत प्रविष्टि भेजने की ज़िम्मेदारी प्रतिभागी पर होगी।
  10. प्रतियोगियों द्वारा भेजी गई सभी प्रविष्टियों का उपयोग शिक्षा मंत्रालय और MyGov द्वारा सोशल मीडिया या वेबसाइट पर या आवश्यतानुसार किसी अन्य रूप में किया जा सकता है।

महत्वपूर्ण तिथियां

Important Dates
प्रारंभ तिथि: 28 दिसंबर 2021
अंतिम तिथि: 3 फ़रवरी 2022

के तौर पर भाग लें

स्व भागीदारी
छात्र
(स्व भागीदारी)

9-12 वीं तक के छात्रों के लिए

शिक्षक-के-माध्यम-से-छात्र
छात्र
(शिक्षक लॉगिन के द्वारा भागीदारी)

9-12 वीं तक के उन छात्रों के लिए जिनके पास इंटरनेट, ईमेल आईडी या मोबाइल नंबर नहीं है

शिक्षक
शिक्षक

शिक्षकों के लिए

माता - पिता
माता - पिता

स्कूल जाने वाले बच्चों के माता-पिता के लिए

प्रधानमंत्री मोदी के साथ, खुद को एग्जाम वॉरियर बनाएं

warrior-pic Exam Warriors

परीक्षा पे चर्चा युवाओं के लिए तनाव मुक्त माहौल तैयार करने हेतु प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के नेतृत्व में चल रहे आंदोलन - ' एग्जाम वॉरियर्स ' का हिस्सा है.

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के नेतृत्व में यह एक ऐसा आंदोलन है जो छात्रों, शिक्षकों,माता-पिता और समाज को साथ लाने के प्रयासों से प्रेरित है। ताकि एक ऐसे वातावरण का निर्माण किया जा सके, जहां प्रत्येक बच्चे के अनूठे व्यक्तित्व को सराहा और प्रोत्साहित किया जाए और उन्हें अपने विचार व्यक्त करने का अवसर दिया जाता है।

इस अभियान के प्रेरणास्रोत और पथप्रदर्शक, प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की बेस्ट सेलिंग पुस्तक 'एग्जाम वॉरियर्स' है। इस पुस्तक के माध्यम से प्रधानमंत्री ने शिक्षा के प्रति एक नवीनतम दृष्टिकोण साझा किया है। इसमें छात्रों के ज्ञान और समग्र विकास को सबसे प्राथमिक जरुरत माना गया है। प्रधानमंत्री सभी से आग्रह करते हैं कि परीक्षा को तनाव और जीवन-मृत्यु की स्थिति बनाने के बजाय इसे सही परिप्रेक्ष्य में देखें।

सीखना एक सुखद, संतोषप्रद और अंतहीन यात्रा होनी चाहिए- यह प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की पुस्तक का संदेश है।

नमो ऐप पर एग्जाम वॉरियर्स मॉड्यूल एग्जाम वॉरियर्स मूवमेंट में एक इंटरैक्टिव टेक की सुविधा प्रदान करता है। यह एग्जाम वॉरियर्स में प्रधानमंत्री द्वारा लिखित प्रत्येक मंत्र के मूल संदेश को प्रकट करता है।

यह मॉड्यूल सिर्फ युवाओं के लिए ही नहीं बल्कि अभिभावकों और शिक्षकों के लिए भी है। प्रधानमंत्री द्वारा एग्जाम वॉरियर्स में लिखित मंत्रों और अवधारणाओं को हर कोई आत्मसात कर सकता है, क्योंकि प्रत्येक मंत्र को सचित्र रूप से दर्शाया गया है। मॉड्यूल में प्रेरक विचार के साथ-साथ रोचक गतिविधियां भी दी गई हैं, जो व्यावहारिक तरीके से अवधारणाओं को समझने में मदद करती हैं।

उदाहरण के लिए:
Exam Warriors example
  • एक गतिविधि में छात्रों को पहले से डिजाइन 'लाफ हार्ड कार्ड' भर कर अपने दोस्तों के साथ साझा करने के लिए कहा गया है, जो उन्हें एक-दूसरे के साथ विनोदपूर्ण व्यवहार में मदद करता है.
  • एक अन्य गतिविधि में माता-पिता को बच्चों को अपना 'टेक गुरु' बनाने और उनके साथ नई तकनीकों को सीखने के लिए प्रोत्साहित करती है। यह माता-पिता को बच्चों के करीब आने में मदद करता है और साथ ही प्रौद्योगिकी के इस्तेमाल हेतु एक रचनात्मक दृष्टिकोण प्रदान करता है.
  • नमो ऐप के एग्जाम वॉरियर्स मॉड्यूल पर ऐसी कई दिलचस्प गतिविधियां हैं.
  • एग्जाम वॉरियर्स के मुहिम में शामिल होकर इसे मजबूत बनाएं। मुहिम से जुड़ने के लिए यहां क्लिक करें
activity example
activity example
activity example
activity example
#PPC2022 | #ExamWarriors