योग के लिए प्रधानमंत्री पुरस्कार

पृष्ठभूमि

योग प्राचीन भारतीय परम्पराओं का एक अनमोल उपहार है। “योग” शब्द संस्कृत मूल युज से लिया गया है जिसका अर्थ है “जुड़ना”, “एक साथ आना” या “एकजुट होना”, जो मन और शरीर की एकता का; विचार और कार्य का; संयम और तृप्ति का; मानव और प्रकृति के बीच सामंजस्य का, और स्वास्थ्य और भलाई के लिए समग्र दृष्टिकोण का प्रतीक है। योग बीमारियों की रोकथाम करने, स्वास्थ्य को बढ़ावा देने और जीवन शैली से संबंधित कई विकारों के प्रबंधन के लिए जाना जाता है। इसकी सार्वभौमिक अपील को स्वीकार करते हुए, 11 दिसंबर 2014 को, संयुक्त राष्ट्र महासभा (UNGA) ने 21 जून को अंतर्राष्ट्रीय योग दिवस (IDY) के रूप में घोषित करते हुए एक प्रस्ताव (रिज़ॉल्यूशन 69/131) पारित किया।

पुरस्कारों का उद्देश्य

माननीय प्रधानमंत्री जी ने दूसरे अंतर्राष्ट्रीय योग दिवस पर दो योग पुरस्कारों की घोषणा की, जिनमें से एक है अंतर्राष्ट्रीय और दूसरा राष्ट्रीय, जो अंतर्राष्ट्रीय योग दिवस के अवसर पर दिए जाएंगे। पुरस्कार का उद्देश्य उन व्यक्तिय(यों)/संगठन(ओं) को पहचानना और उन्हें सम्मानित करना है, जिन्होंने योग के प्रचार और विकास के माध्यम से लंबे समय तक समाज पर महत्वपूर्ण प्रभाव डाला है।

पुरस्कारों के बारे में

योग के विकास और प्रचार में योग के क्षेत्र में बेहतरीन योगदान देने के लिए हर साल पुरस्कार दिए जाने का प्रस्ताव किया जा रहा है। यह प्रस्तावित किया गया है कि इस योगदान को राष्ट्रीय और अंतर्राष्ट्रीय दोनों स्तरों पर मान्यता दी जाए। यह पुरस्कार प्रतिवर्ष अंतर्राष्ट्रीय योग दिवस (IDY) (21 जून) के अवसर पर दिया जाएगा। संयुक्त राष्ट्र महासभा द्वारा 21 जून को IDY घोषित किया गया है, जिसे आमतौर पर योग दिवस के रूप में जाना जाता है।

पुरस्कारों का नामकरण

यह सुनिश्चित करने के लिए कि योग में सबसे ज्यादा योगदान देने वाले प्रस्तावकों को सम्मानित किया जाए, भारत के प्रधानमंत्री ने 2016 में अंतर्राष्ट्रीय योग दिवस के अवसर पर योग के प्रचार और विकास के लिए पुरस्कारों की घोषणा की थी।

- राष्ट्रीय स्तर पर योग के लिए प्रधानमंत्री पुरस्कार (संख्या 2)

- अंतर्राष्ट्रीय स्तर पर योग के लिए प्रधानमंत्री पुरस्कार (संख्या 2)

श्रेणियां

पुरस्कार राष्ट्रीय और अंतर्राष्ट्रीय दो श्रेणियों में दिए जाएंगे। यह पुरस्कार उन संस्थाओं को दिए जाएंगे जिनका ट्रैक रिकॉर्ड पूर्ण रूप से सही है और योग के प्रचार और विकास में सबसे ज्यादा योगदान देते है। किसी खास साल में, ज्यूरी एक या उससे ज़्यादा व्यक्तियों/संगठनों को पुरस्कार देने का या किसी को भी कोई भी पुरस्कार नहीं देने का फ़ैसला कर सकती है। जिस संस्था को एक बार पुरस्कार मिल चुका है, उसे उसी श्रेणी में पुरस्कार देने के लिए फिर से विचार नहीं किया जा सकता है।

राष्ट्रीयः योग के प्रचार और विकास में उनके योगदान के लिए, भारतीय मूल की संस्थाओं को दो राष्ट्रीय पुरस्कार दिए जाएंगे।

अंतर्राष्ट्रीयः दुनिया भर में योग के प्रचार और विकास में योगदान के लिए, भारतीय या विदेशी मूल की संस्थाओं को दो अंतर्राष्ट्रीय पुरस्कार दिए जाएंगे।

पुरस्कार

  • विजेताओं के नामों की घोषणा 2024 के अंत तक की जाएगी।
  • विजेताओं को ट्रॉफी, प्रमाण पत्र और नकद पुरस्कार के माध्यम से सम्मानित किया जाएगा
  • यह सम्मान समारोह अंतर्राष्ट्रीय योग सम्मेलन के साथ होगा।
  • हर कैश अवार्ड का मूल्य 25 लाख रु. होगा
  • संयुक्त विजेताओं के मामले में, पुरस्कारों को विजेताओं में बांटा जाएगा

आवेदन करने की प्रक्रिया

सभी तरह से भरा हुआ आवेदन सीधे आवेदक द्वारा दिया जा सकता है या उन्हें पुरस्कार प्रक्रिया के तहत किसी प्रमुख योग संगठन द्वारा नामांकित किया जा सकता है।

यह आवेदन उन सभी संस्थाओं के लिए खुला है, जो इन दिशानिर्देशों के सेक्शन 4 में दिए गए योग्यता मानदंडों को पूरा करती हैं। आवेदन/नामांकन (केवल माईगव प्लेटफ़ॉर्म) के माध्यम से सबमिट किए जा सकते हैं। इसके लिए लिंक आयुष मंत्रालय की वेबसाइट और राष्ट्रीय पुरस्कार पोर्टल पर भी उपलब्ध होगा।

एक आवेदक किसी खास साल में सिर्फ़ एक पुरस्कार श्रेणी के लिए नामांकित हो सकता है/नामांकित किया जा सकता है, जो कि राष्ट्रीय पुरस्कार या अंतर्राष्ट्रीय पुरस्कार है।

पात्रता

पुरस्कारों का मकसद उन संस्थाओं को पहचानना है जिन्होंने योग के प्रचार और विकास में महत्वपूर्ण और उत्कृष्ट योगदान दिया है।

इस संबंध में, इन पुरस्कारों के लिए आवेदक/नॉमिनी को योग का अच्छा अनुभव और गहरी समझ होनी चाहिए।

राष्ट्रीय और अंतर्राष्ट्रीय दोनों के लिए व्यक्तिगत श्रेणी के तहत आवेदक/नॉमिनी की न्यूनतम योग्य आयु 40 वर्ष है।

पूर्ण रूप से सही ट्रैक रिकॉर्ड और योग के प्रचार और विकास में उत्कृष्ट योगदान के साथ न्यूनतम 20 (बीस) वर्ष की सेवा।

स्क्रीनिंग कमेटी

प्राप्त किए गए सभी आवेदनों/ नामांकनों की स्क्रीनिंग एक स्क्रीनिंग कमेटी द्वारा की जाएगी, जिसका गठन हर साल आयुष मंत्रालय द्वारा किया जाएगा। स्क्रीनिंग कमेटी में एक चेयरपर्सन सहित 4 सदस्य शामिल होंगे।

  • स्क्रीनिंग कमेटी मंत्रालय को मिलने वाले सभी आवेदनों/ नामांकनों पर विचार करेगी।
  • स्क्रीनिंग कमेटी राष्ट्रीय और अंतर्राष्ट्रीय पुरस्कारों में से प्रत्येक के लिए अधिकतम 50 नामों की सिफारिश करेगी।

स्क्रीनिंग कमेटी में 3 आधिकारिक सदस्य होंगे, जो इस प्रकार हैं:

i. आयुष सचिव-अध्यक्ष

ii. निदेशक, CCRYN-सदस्य

iii. निदेशक, MDNIY-सदस्य

सचिव आयुष द्वारा एक गैर-अधिकारी को इस समिति के सदस्य के रूप में नामित किया जा सकता है।

मूल्यांकन समिति (ज्यूरी)

मूल्यांकन समिति (ज्यूरी) में एक अध्यक्ष सहित 7 सदस्य शामिल होंगे। ज्यूरी में जीवन के अलग-अलग क्षेत्रों से प्रतिष्ठित व्यक्तित्व होंगे, जिन्हें हर साल आयुष मंत्रालय द्वारा नामित किया जाएगा। ज्यूरी स्क्रीनिंग कमेटी द्वारा सुझाए गए नामों पर विचार करेगी। यह अपनी समझ से उपयुक्त उम्मीदवारों को नॉमिनेट भी कर सकती है।

मूल्यांकन समिति (ज्यूरी) में 4 आधिकारिक सदस्य होंगेः

कैबिनेट सचिव - चेयरमैन
प्रधानमंत्री के सलाहकार - सदस्य
विदेश सचिव - सदस्य
सचिव, आयुष - सदस्य सचिव

कैबिनेट सचिव द्वारा तीन गैर-अधिकारियों को इस समिति के सदस्य के रूप में नामित किया जा सकता है।

मूल्यांकन मानदंड

  • ज्ञान के क्षेत्र में योगदान करना।
  • मानसिक, शारीरिक और आध्यात्मिक स्वास्थ्य के साधन के रूप में जनता के बीच योग को बढ़ावा देने में योगदान करना।
  • नैतिक और आध्यात्मिक मूल्यों को मजबूत करने के माध्यम से समाज पर प्रभाव डालना।
मूल्यांकन दिशानिर्देश
  • दोनों श्रेणियों के पुरस्कारों के लिए ज्यूरी निर्णय लेने वाली शीर्ष संस्था होगी।
  • ज्यूरी के पास किसी भी आवेदक को नामित करने का अधिकार है।
  • मूल्यांकन करते समय, जिस अवधि के लिए आवेदक ने उपरोक्त मापदंडों को दिखाया है, वह एक महत्वपूर्ण मापदंड होगा।
  • कोई भी ज्यूरी सदस्य ज्यूरी में सेवा देने के लिए अयोग्य होगा, अगर उसका करीबी रिश्तेदार किसी खास आवेदक से जुड़ा है और ज्यूरी सदस्य को इस प्रक्रिया से ख़ुद को अलग करने का अधिकार होगा।
  • ज्यूरी के सदस्य मीटिंग में होने वाली विचार-विमर्श के संबंध में कड़ी गोपनीयता बनाए रखेंगे।
  • ज्यूरी सदस्यों को आवेदक (ओं) द्वारा सबमिट किए गए पात्रता दस्तावेज़ों की एक कॉपी दी जाएगी।
  • ज्यूरी की सभी बैठकें नई दिल्ली में आयोजित की जाएंगी।
  • ज्यूरी की हर बैठक रिकॉर्ड की जाएगी और कार्यवृत्त पर ज्यूरी के सभी सदस्य हस्ताक्षर करेंगे।
  • यदि कोई ज्यूरी सदस्य बैठक में भाग नहीं ले पाता है, तो वह अपनी पसंद के बारे में लिखित रूप में बता सकता है।
  • जब भी आवश्यक हो, ज्यूरी के अध्यक्ष विशेष क्षेत्रों के विशेषज्ञों की सलाह ले सकते हैं।
  • ज्यूरी का निर्णय अंतिम और बाध्यकारी होगा और उनके निर्णय के संबंध में किसी भी अपील या पत्राचार पर विचार नहीं किया जाएगा।
  • ज्यूरी हर साल पुरस्कारों को अंतिम रूप देने के लिए अपनी प्रक्रिया तय कर सकती है।

सामान्य नियम और शर्तें

  • अगर यह पता चलता है कि आवेदक इस संबंध में पत्र लिखने, ईमेल भेजने, टेलीफ़ोन कॉल करने, व्यक्तिगत रूप से संपर्क करने या ऐसी ही किसी अन्य गतिविधि के ज़रिये ज्यूरी के किसी सदस्य को प्रभावित कर रहे हैं, तो उन्हें आजीवन अयोग्य घोषित कर दिया जाएगा। इस अयोग्यता के कारण ऐसे अयोग्य व्यक्तियों का काम पुरस्कार के लिए विचार किया जाने योग्य नहीं होगा।
  • अगर आवेदक द्वारा दी गई कोई भी जानकारी किसी भी तरह से अनुचित, गलत या झूठी पाई जाती है, तो एक आवेदक को तीन साल की अवधि के लिए अयोग्य भी ठहराया जा सकता है।
  • आवेदक द्वारा दी गई जानकारी को गोपनीय माना जाएगा और इसका इस्तेमाल केवल उनकी योग्यता निर्धारित करने के उद्देश्यों के लिए किया जाएगा।
  • एंट्री फ़ॉर्म में खास जानकारी देते समय, संगठन को यह सुनिश्चित करना चाहिए कि पूरा डाक पता, ईमेल पता, टेलीफ़ोन नंबर, मोबाइल फ़ोन नंबर और फ़ैक्स नंबर (अगर कोई हो) सही तरीके से भरा गया हो।
  • सबमिट किए गए दस्तावेज़ों पर मंत्रालय स्पष्टीकरण मांग सकता है।
  • आवेदन प्राप्त करने की प्रारंभ तिथि होगी 04/05/2024 और एंट्री जमा करने की अंतिम तिथि होगी 30/06/2024। सबमिट करने की आखिरी तारीख के बाद मिली किसी भी एंट्री को अस्वीकार करने का अधिकार मंत्रालय के पास सुरक्षित है।
  • यदि कोई शिकायत है, तो उसका समाधान सचिव, आयुष मंत्रालय, भारत सरकार द्वारा किया जाएगा, जिसका निर्णय अंतिम और बाध्यकारी होगा।

अस्वीकरण

कृपया इस फ़ॉर्म को भरने में पूरी सावधानी बरतें। पुरस्कार निर्धारित करने के उद्देश्य से, आवेदन में प्रत्येक कॉलम के हिसाब से दी गई जानकारी को अंतिम माना जाएगा। जानकारी बदलने के लिए किसी भी अनुरोध पर किसी भी स्तर पर विचार नहीं किया जाएगा।